खुली छत पर आसमान के नीचे गर्लफ़्रेंड की चुदाई (Khuli Chhat Par Aasman ke Niche Girlfriend Ki Chudai)

मेरी अब तक की कहानियों में आपने जाना कि कैसे मैंने पूजा की चूत और गांड मारी
अब जब भी मन होता मैं उसको चोदने चला जाता या जब उसका मन होता तो वो चूत चुदवाने मेरे घर चली आती।

हमने अपने अपने घरों में कोई भी जगह नहीं छोड़ी जहाँ हमने चुदाई नहीं की हो।
उसको भी चुदवाने मैं बहुत मजा आता था और मुझे भी उसको चोदने मैं बहुत मजा आता था।

अब हम दोनों इस एक जैसी चुदाई से बोर होने लगे थे, इसमें हमें मजा नहीं आ रहा था। हम लोग कुछ नया करना चाह रहे थे मगर समझ में नहीं आ रहा था कि क्या करें और डर भी था कि पटना इतना मॉडर्न जगह नहीं है और यहाँ ज्यदा प्लेस भी नहीं है जाने को और कुछ करने को।

हमेशा की तरह एक दिन हम दोनों उसके घर पर पढ़ाई कर रहे थे, पढ़ते पढ़ते कब शाम हो गई पता ही नहीं चला।

अचानक उसकी माँ आकर बोली कि वो मार्किट जा रही है, तब पता चला कि वक़्त क्या हुआ है।
उनके जाने के बाद हम पढ़ाई छोड़ कर बातें करने लगे।

तभी उसके घर का फोन बजा, वो बात करने लगी और उसने इशारे में बताया कि उसके पिछले स्कूल की फ्रेंड का फ़ोन है और फिर वो बात करने लगी।

मैं वहीं कुर्सी पर बैठ कर उसकी बात खत्म होने का इन्तजार करने लगा और उसकी तरफ देखने लगा।

बहुत क्यूट लग रही थी वो इस वक़्त… एक सफ़ेद रंग का फ्रॉक पहना हुआ था उसने जो पंखे की हवा से उड़ रहा था और उसकी जांघों तक ऊपर जा रहा था और कभी कभी उसकी पैंटी भी दिख रही थी जो भी सफ़ेद रंग की थी।

बड़ा ही कामुक नजारा लग रहा था वो!

ये हिंदी सेक्स कहानी आप m.leramax.ru पर पढ़ रहें हैं|

वो देखते देखते मेरा लंड धीरे धीरे बगावत पर उतरने लगा और अपना सर उठाने लगा।
अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था, समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूँ… और यह साली फ़ोन रखने का नाम नहीं ले रही थी।

मैं अपने लंड को हल्के हल्के सहला रहा था। यह देख कर वो मुस्कुराने लगी और मुझे चिड़ा रही थी और फ़ोन पर बात कर रही थी।

उसका फ्रॉक बार बार हवा से उड़ रहा था, मुझे लगा कि उसकी जांघें मुझे अपनी तरफ बुला रही हैं। मैं उठ कर उसकी तरफ गया और उसके सामने नीचे बैठ कर उसकी जांघों और पैंटी को देखने लगा।

क्या गदराई हुई जांघें थी उसकी गोरी सी… और चूत का पूरा आकार पता चल रहा था उसकी सफ़ेद पैंटी के ऊपर से।

पूजा मुझे देख रही थी और कामुक सी शक्ल बना कर अपने होंटों को अपने दाँतों में दबा कर फ़ोन पर बात करने लगी और अपने एक हाथ से अपने बदन को हिला हिला कर सहलाने लगी। फिर अपने हाथ को नीचे लाकर अपनी चूत पर रख कर सहलाने लगी, मुझे देख कर रंडी जैसे चूत को रगड़ने लगी, मुस्कुराने लगी।

मुझसे अब रहा नहीं जा रहा था, मैंने बहुत तेजी से उसकी पैंटी को झटके में नीचे खींच दिया और अपना मुँह उसकी चूत पर लगा कर चूसने लगा।
पूजा को इसका अंदाज नहीं था कि मैं ऐसा कुछ करूँगा उसके फ़ोन पर बात करते समय… मेरे इस अचानक हमले से उसके मुँह से बहुत जोर की सिसकारी निकल गई, वो अपने आप को संभाल नहीं पाई और बेड पर बैठ गई।

मैंने उसको झटके से लिटा दिया और उसकी टांगों को फैला कर उसकी चूत में अपनी जीभ डाल दी और घुमाने लगा जिससे पूजा की हालत बहुत ज्यादा ख़राब हो गई, उसका फ़ोन पर बात करना मुश्किल हो गया।

वो अपने मुँह से निकलते हुई सिसकारी को नहीं रोक पा रही थी इसलिए उसने फ़ोन को रख दिया और अपनी टांगों को हवा में उठा कर फैला दिया और मेरे मुँह को अपनी चूत पर दबाने लगी।

मैं उसके दाने को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा जिससे पूजा ने अपनी कमर हवा में उठा ली और जोर जोर से आवाज निकालने लगी।
फिर मैं उसके दाने को अपने दाँतों के बीच में लेकर चूसने लगा जिसकी वजह से पूजा अचानक से जोर से चिल्लाई और उसकी चूत एकदम झरने लगी।

वो अपनी कमर बेड पर गिरा कर जोर जोर से हांफने लगी और आँखें बंद करके पड़ी रही।

थोड़ी देर बाद उसने आँखें खोली जो पूरी तरह से लाल थी। उसने मेरी आँखों में देखते हुए मेरे लंड को पकड़ कर हिलाने लगी और अपने अंगूठे से मेरे सुपारे को मसलने लगी।

मेरी तो हालात ही ख़राब हो गई, मैंने साली के सर को पकड़ के उठाया और अपने लंड को दिखा कर इशारा किया चूसने को!

वो भी साली रंडियों की तरह अपनी आँखें नचाते हुए मुझे देखते हुए मेरा लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी, कभी अपनी जीभ मेरे सुपारे पर चलाती तो कभी पूरा लंड चूस लेती, कभी मुँह से लंड को बाहर निकाल के उस पर थूक डालती और फिर उसको चूसने लगती। कभी मेरे अन्डों को अपने मुँह में डाल कर चूसने लगती।

बहुत खतरनाक तरीके से मेरे लंड की चुसाई चल रही थी।

अचानक से उसने मेरे लंड को अपने मुँह से निकाल कर हिलाने लगी और अपनी जीभ निकाल कर मेरी गाण्ड के छेद को चाटने लगी, कुतिया की तरह अपनी जीभ मेरी गांड में डाल कर उसको चाटने लगी जिससे मेर लंड एकदम लोहे के जैसा टाइट हो गया।

उसकी आँखें एकदम लाल हो चुकी थी, वो ऊपर उठ कर आई, लंड को अपनी चूत पर लगा कर उस पर बैठ गई और अपने दोनों हाथ मेरी छाती पर रख कर मेरे लंड पर उछलने लगी।

ये हिंदी सेक्स कहानी आप m.leramax.ru पर पढ़ रहें हैं|

उसकी चूत पूरी गीली हो चुकी थी और मेरा लंड बिना किसी रोक टोक के अंदर बाहर हो रहा था।
अब मैं भी गर्म हो चुका था पूरा… मैंने उसको नीचे पटक दिया और उसकी टाँगें हवा में फैला कर उसकी चूत को दनादन चोदने लगा, उसकी चूची को फ्रॉक के ऊपर से ही दबाने लगा।

उसकी चूत पूरी तरह से पनिया गई थी और हर थाप के साथ पच पच की आवाज आ रही थी।
अब वो झरने वाली थी और मैं जोर जोर से उसको चोद रहा था।

तभी बाहर घंटी बजी और उसकी माँ ने गेट खोलने को बोला।
हम दोनों की हालात ख़राब हो गई उस वक़्त… गेट भी खोलना जरूरी थी और हम चुदाई के उस मुकाम पर पहुँच चुके थे कि जहाँ से बिना पानी निकले आना मुश्किल सा लग रहा था।

मगर वापिस आना पड़ा।
वो अपने कपड़े ठीक करके दरवाजा खोलने गई और मैं वापस रूम में जाकर टेबल पर बैठ कर पढ़ने का दिखावा करने लगा।

उसकी मम्मी आई और हल्की बात करके फिर टीवी देखने चली गई और मैं पूजा का वेट करने लगा कि वो आये रूम में तो फिर मैं अपने घर जाऊं क्योंकि मूड साला वैसे भी बहुत ख़राब हो चुका था।
घर जाकर मुठ मारनी थी, तभी जाकर लंड को कुछ चैन मिलता।

लगभग पंद्रह मिनट हो चुका था और पूजा रूम में नहीं आई तो मुझे लगा कि वो कुछ काम में लग गई होगी तो मैं अपनी किताब समेट कर जाने लगा और उसकी मम्मी से पूछा- पूजा कहाँ है?
तो आंटी बोली- वो छत पर गई है।

मुझे बहुत गुस्सा आया कि मुझे कमरे में छोड़ के वो छत पर क्या कर रही है।

मैं छत पर गया तो देखा कि वो सीढ़ी पर बैठी थी, मुझे देख कर बोली- इतनी देर क्यों लगा दी आने में?
और रांड जैसे मुस्कुरा कर उठ कर छत पर चली गई।

मुझे कुछ समझ में नहीं आया, मैं भी उसके पीछे छत पर गया।
वहाँ अँधेरा होने की वजह से साफ़ साफ़ नहीं दिख रहा था।

पूजा चलती हुई जाकर छत की रेलिंग से लग गई और पीछे मुड़ कर मेरी तरफ देखने लगी, अपनी गांड को हिला कर मुझे अपनी तरफ आने का इशारा करने लगी।

मैं उसकी तरफ बढ़ने लगा, वो अपने फ्रॉक को उठा रही थी और अपनी कमर के ऊपर ले जा कर रख दी।
क्या मस्त लग रही थी वो… एकदम खुली हुई गांड उसकी और उसकी चूत… एकदम सड़क छाप रंडी लग रही थी वो… और अपनी गांड को हिला कर वो और भी गर्म कर रही थी मुझे!

मैं उसके पास गया और उसकी गांड पर हाथ रखा और दबा दिया, जिससे वो सिसिया उठी और बोली- मेरे राजा, अभी इसके लिए टाइम नहीं है, जल्दी से अपना लंड निकाल के अपनी रंडी की चूत में घुसा कर चोद दे… कहीं ऐसा ना हो कि बीच में फिर कोई आ जाये और फिर मैं ना चुद पाऊँ।

मुझे भी यही सही लगा कि घर जाकर मुठ मारने से अच्छा है कि अभी ही एक जल्दी वाली चुदाई कर के अपना माल निकाल दिया जाये।
मैंने भी देर ना करते हुए अपने लंड को बाहर निकाला और उसको बोला- जल्दी से चूस ले तो एकदम टाइट हो जाएगा और आराम से चुदाई हो सकेगी।

यह सुनते ही वो झट से नीचे बैठ कर मेरा लंड गप से अपने मुँह में लेकर चूसने लगी और मेरे अन्डों को सहलाने लगी।

कुछ देर पहले की गर्मी और अभी की चुसाई से मेरा लंड तुरंत तैयार हो गया उसकी पनियाई चूत मैं जाने के लिए!
वो इस बात को समझ गई और झट से उठ कर वापस से रेलिंग से लग कर अपनी फ्रॉक को उठा कर टांगों को खोल दिया।

मैं भी अपने लंड के सुपारे को उसकी चूत के छेद पर रख कर सहलाने लगा और उसकी चुचों को पीछे से हाथ डाल कर दबाने लगा जिससे वो सिसकारने लगी और मेरे लंड के साथ साथ अपनी गाण्ड भी हिलाने लगी फिर मैंने अपना लंड उसके चूत में पूरे जोर के साथ अंदर डाल दिया जिससे उसके मुँह से चीख़ निकल गई।

मगर मैं रुका नहीं और जोर जोर से धक्का मारने लगा और उसकी चूची को जोर जोर से दबा रहा था।
वो भी पागलों की तरह आवाज निकाल रही थी और अपनी गाण्ड को पीछे मेरे लंड पर पटक कर चुद रही थी।
अचानक वो बोली- अब जोर जोर से चोदो! मैं अब झरने वाली हूँ और खड़े खड़े टांगों में भी दर्द हो रहा है।

यह सुन कर मैं पूरे जोर से उसकी चूत मारने लगा, लंड को सुपारे तक निकाल कर वापस पूरे जोर से अंदर पेलने लगा और उसकी गांड पर हाथ से मारने लगा, अपनी बड़ी वाली उंगली को उसकी गांड में डाल कर उसकी गांड को चोदने लगा।

बड़ा मजा आ रहा था… अब मुझे भी लग रहा था कि मैं भी अब खलास हो जाऊँगा।
तभी उसकी चूत में पानी का सैलाब आ गया, वो झरने लगी और उसकी कमर नीचे की तरफ जाने लगी जिसे मैंने अपने हाथों में थाम लिया और जोर जोर का धक्का मारने लगा।

पच पच की आवाज से मेरी चोदने की रफ़्तार और तेज हो रही थी, अब मेरा निकलने वाला था, मैंने पूजा को बताया तो वो बोली- चूत में ना डालना, मैं तेरा माल पीना चाहती हूँ।

वो यह बोल कर अपने घुटनों पर आ गई और अपना मुँह खोल कर सटाक से मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया, चूसने लगी और मेरे अंडों को सहलाने लगी।

इस तरह की लंड चुसाई से मेरा माल निकलने लगा और मैं उसके मुँह में झरने लगा जिसे वो पूरा पी रही थी, उसने मेरा पूरा पानी पी लिया और फिर लंड को चाट कर अच्छे से साफ़ कर दिया और अपनी जीभ को अपने होंटों पर फिरा कर मुझे देखने लगी एकदम रंडी की तरह।

आज खुले में चुदाई करने के बाद हम दोनों को बहुत अच्छा लग रहा था और हम समझ गए थे कि अब हमें कैसी चुदाई करनी है जिससे हम बोर ना हों।

कैसी रहा यह खुले में हमारा चुदाई का खेल?
अपनी राय मुझे जरूर भेजें जो मुझे प्रेरित करती है और लिखने के लिए।




साध्वी लड़की की चुदाई सेक्स स्टोरीगैहु काटती लङकी की फोटो देसीaunty ki kunware land se chudai ki tamannaबङे चूतङpehar swali logot sex kahinibeta me apse payar karti ho sex kahaniइनडियन लडकियोँ कि फोटूमास्टरनी की कुँवारी बेटी की चुदाई हिन्दी कहानीमेरा Xxnx b फेसबुक कहनीmooshi.ki.chudaiger.marad.ke.sath.kahanikutte kutia ki chudai dekh aunty garmaibhabi ko nanga Karl chooda Beggi shadi masaxe kahane maare gand mare papa ka dosto na hendeWoh virodh karte karte chud gayiChudaai ki madhur kahaniyaबडी जाघ बालीचुत चाची की कहानीX parivarme Bhae behen inceststoriesमंजुला की सामूहिक चुदाईSxe kahani sahli k ghar ja k chodaisususexkahaniचोदना डाट कामchachi bhatija and chacha ka sath chudai k veje 50 sal ki nani ki cudai khet maixxx khani hinde caci ki mdad se dadi ko coda pote nesexy fufa sex stori. hindiचुदवाति हुइ लडकीयो की हिनदी कहानीयासामूहिक चुदाईचीखें निकलती रहीबेटे ने मा को चोद मुत पी गया कहानीभाभी के बदले भतीजी की चुदाई रात के अंधेरे में हिंदी कहानीpdosiyo ki bahan betiyo ki chudai बस स्टैंड पर अनजान महिला की सेक्स स्टोरीघर में पारिवारिक रिश्तों की सामूहिक चुदाई की कहानीIndian school ledi ki suhagrat ki chudaiSabse mehangi bra aur pantijsexy kahani neha Vinitaआलिया भट्ट चोदXxx viode 3Gp चेदन वेलमां. जाब. छोटी. बाचे. दुध. पीत. बाद. आप. ने. आदमी. साथ. नंग. से. सेकस. हिदीमेंकैसे लंड चुसे की पति को मजा आजायMom ne gand chudai korna shikai kahaniPoonam hindi khani bhabxxxwww.lalita boor chodati hae ushka khaninasedi buaa ko chodarajai me chudai Hindi Kahaniyaचोर ने बिबि का चुदाइ कियामहिमा बीबी चुदाई की पायासी चुदाई बिडियोसेकसि सलहज को बस मे चौदाhagane gai larki ki gand mari hindi storyxxx sxy aratiphon nabirदेहरादून भाभी गरमा गरम सेकसी बिडियोperagnant sohagrat codaPunjabi malkin ko choda bihariबुआ किXXX काहनिबुर मे मे लँड डालके गप गप पेलना है कहानीसेकसि अँकल कहाणीlesbian holi pe chod ragdiLAWDA TAIT HAI KAHANIसेक्स गण्ड रोना ोमामा वैगन से चुदीगांड मे लगी टट्टी ससुर ने चोदा अन्तर वासनाभाभी माँ की यारी ब्रा पैंटी kamukta हिंदी सेक्स कहानीगोवा समुद्र,लड़की,या,आनलाईन,विडियोरिमा एक मुह बोली माँ कहानी हिंदीचुदाईलङकीगर्वतीचुत चुदानी की कहानी of nonvege storyपहली गांड चूत चुदाई कहानीgirl ne boy ko chod diya sexkhaniyaxnxxx khani Hindi priwarik chodaibig boobs wali or budha chudai kahaniyaआर्मी भाई से चुदाई पेट में दर्द होने पर तेल लगाने के बहाने से हिंदी मेंबिवि सेकस कथाSas ke chodeay sex videoदीदी की पैंटी में मुठ मारी कहानीtren Me majduri me cudai khaniya Hindi meबिदेसी सेकसी चोदे वालझाट वाली सास की नीद में सोते समय चोदाई बिडिओsexystoryxyz.newsexistoripadre Cali sex kahaa'iकहानी मादर चोदकीवकिल कि चुदाई कि कहानीArti ke seal tod sexy kahaneऔरतें चुदाई के लिए प्लेबॉय को कितने पैसे देती हैbavasir bali gand gay porn storysex goli anti ne khilaya kahaniAntervasna maine apni pados ki aunty ko apbe gher pe khoob chodaDawaai khilaakar mom ko teen chaar aadme se chudba diya sex khani in hindiजिस्म की गर्मी देकर जान बचायीक्सक्सक्स झांट वाली सगी माँ बहन का बुर की हिंदी कहानी दादी नानीकुत्ते का लूँ सेक्स स्टोरीmeri maa ghar me bete ke samne nangi ghumti hai sex kahaniचुत फाडी जीजा ने चीखेsari rat frist chudai storywww.bai bahan ki lip kis daka vabiमुझे छिनाल रण्डी समझ के गांड मारो गाली दोjija sali or chaci ki xxx vidio hindi meगरम जवानि प्यासि औरत राज शर्मा.कम